Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

सरकार आपकी बेटी को देगी टैक्स फ्री 70 लाख रुपये, जानें कैसे

सरकारी योजना :

सुकन्या समृद्धि योजना भारतीय डाक विभाग की सबसे ज़्यादा ब्याज कमाने वाली सरकारी योजनाओं में सम्मिलित होती है, जिसके खाताधारकों को इस वक़्त हर वर्ष 8 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जाता है|

सुकन्या समृद्धि योजना (SSA):

भारतीय समाज में सदियों से बेटों के मुकाबले बेटियों की चिंता करते रहने का रिवाज़ है| पिछले कुछ दशकों में इस में कुछ हद तक बदलाव ज़रूर आया है, और अब बेटियां भी हर क्षेत्र में नाम रोशन कर रही हैं, लेकिन फिर भी बहुत से परिवारों में बेटियों की पढ़ाई-लिखाई, पालन-पोषण से लेकर उनकी शादी तक की चिंता में माता-पिता घुलते नज़र आते हैं| ऐसे ही माता – पिता के लिए केंद्र सरकार की एक योजना कई साल से चला रही है, जिसकी सहायता से कुछ साल तक लगातार बचत करने पर 21 साल की होते ही आप अपनी बेटी को लगभग 70 लाख रुपये की कर मुक्त पैसे दे सकते हैं, जो उसके बहुत काम आ सकती है|

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

इस केंद्रीय योजना का नाम सुकन्या समृद्धि योजना है, जिसके अंतर्गत प्रत्येक भारतीय अपनी बिटिया के जन्म लेते ही पोस्ट ऑफिस या बैंक में SSA खाता खुला सकते है |जिसमें लगातार 15 साल तक जमा करने के बाद, 21 साल पूरे होने पर 69 लाख 80 हज़ार रुपये से ज़्यादा की रकम बिटिया के खाते में जमा दिखाई देगी |

Sukanya Samriddhi Account:

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत केवल वही शख्स खाता खुलवा सकता है, जो 10 साल से कम उम्र की बेटी का पिता या अभिभावक हो, इस खाते में भी हर साल लोक भविष्य निधि, यानी पब्लिक प्रॉविडेंट फंड या PPF खाते की ही तरह अधिकतम 1,50,000 रुपये जमा किए जा सकते हैं, परंतु इस खाते में हर साल जमा कराई जा सकने वाली न्यूनतम राशि 250 रुपये ही है सुकन्या समृद्धि योजना की सबसे अहम बात यह है कि यह आज की दिनांक में सबसे ज़्यादा ब्याज कमाने वाली सरकारी योजनाओं में से एक है, जिसके हर खाताधारक को हर वर्ष 8 फीसदी की दर से ब्याज अदा किया जाता है,

इस योजना में बिटिया का खाता खुलवाना क्यों जरूरी :

इस योजना में यदि बिटिया के पैदा होते ही खाता खुलवा लिया जाए, तो उसमें बिटिया के 15 वर्ष की होने तक आपको हर साल जमा करना होगा, जो अधिकतम 1,50,000 रुपये हो सकता है इस खाते में भी अधिकतम ब्याज कमाने का सबसे अच्छा अवसर तभी है, जब आप यह निवेश हर वित्तवर्ष में अप्रैल की 5 तारीख से पहले ही कर दें इस तरह से आप 15 साल में कुल मिलाकर 22,50,000 रुपये जमा करेंगे, और 21 वर्ष की होने पर जब आपकी बिटिया को मैच्योरिटी की रकम हासिल होगी, वह 69,80,093 रुपये होगी, बशर्ते मौजूदा ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं होगा |

इस कुल राशि में ब्याज का हिस्सा 47,30,093 रुपये होगा, और सबसे अहम पहलू यह भी है कि बेटी को इस समूची रकम पर किसी भी तरह का कोई कर नहीं देना होगा फिर भी ध्यान रहे ब्याज दर को सरकार हर तिमाही में संशोधित करती है, तो ब्याज की दर में बदलाव होने पर खाता परिपक्व होने पर बेटी को मिलने वाली रकम में कुछ घट-बढ़ हो सकती है|

समझाते हैं कि आपकी बेटी के नाम से खोले गए खाते में आप कब क्या जमा करवाएं:

आपकी बेटी को अधिकतम राशि मिल सके इसके लिए बेटी के पैदा होते ही अगर आप किसी भी पोस्ट ऑफिस या बैंक की शाखा में सुकन्या समृद्धि खाता खुलवा लेते हैं, और उसमें शुरुआती राशि 1,50,000 रुपये जमा करवा देते हैं, तो एक साल पूरा होने पर उसे 8 फीसदी की दर से 12,000 रुपये का ब्याज हासिल होगा, जो अगले साल अप्रैल की शुरुआत में कुल मूल जमा राशि को 1,62,000 रुपये बना देगा, जिसमें अगले साल के निवेश के 1,50,000 रुपये जमा करवा देने पर दूसरे साल में आपको जिस रकम पर ब्याज मिलेगा, वह 3,12,000 रुपये होगी, और उस पर मिलने वाला सालाना ब्याज 24,960 रुपये बनेगा|

इसी प्रकार ही 15 साल तक लगातार हर साल अप्रैल में ही बिटिया के सुकन्या समृद्धि खाते में 1,50,000 रुपये जमा करवाते रहने पर आप कुल मिलाकर 22,50,000 रुपये जमा करवाएंगे, और उसके बाद बेटी के 21 साल का होने का इंतज़ार करेंगे, जब यह खाता परिपक्व होगा अगले छह वर्ष तक आप इस खाते में कुछ भी निवेश नहीं करेंगे, और ब्याज लगातार हर साल बिटिया के खाते में जुड़ता रहेगा, और मैच्योरिटी पर कुल मिलाकर 69,80,093 रुपये बेटी को हासिल हो जाएंगे, जो पूरी तरह व्हाइट मनी होगी, और पूर्णतः कर मुक्त भी होगी |

एक बात और भी ध्यान देने योग्य है:

जिस वक्त आपकी बेटी 18 साल की हो जाएगी, खाता उसी समय पूरी तरह उसके नाम हो जाएगा, और वही इसे संचालित कर पाएगी| यह भी याद रखें, खाता लड़की के पैदा होने के बाद, लेकिन उसके 10 साल का होने से पहले भी खुलवाया जा सकता है, तो उस स्थिति में परिपक्व खाते के 21 साल पूरे होने पर होगी, बेटी के 21 साल का होने पर नहीं लेकिन खाता पूरी तरह उसके नाम तभी हो जाएगा, जब वह बालिग, यानी 18 साल की हो जाएगी| इस प्रकार आप अपनी बेटी का खाता खुलवा कर परिपक्व होने पर पैसे दे सकते है |

Leave a Comment

Join Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now